आईबीपीएस की तैयारी कैसे करें | IBPS Clerk, PO Exam Ki Taiyari Kaise Kare

IBPS ki tyyri Kaise Kare | आईबीपीएस की तैयारी कैसे करें | IBPS Clerk Ki Taiyari Kaise Kare | ibps po exam ki taiyari kaise kare in hindi 

आईपीएस की तैयारी कैसे करें:

हम अपने इस लेख के माध्यम से अपने उन छात्रो को बताना चाहते हैं जो आई.बी.पी.एस की तैयारी कर रहे हैं और इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं कि, हमारा ये लेख उन्ही मेहनती छात्रों के लिए हैं और उनकी मेहनत और तैयारी को एक नया मुकाम और सार्थक स्तर प्रदान करने के लिए लिखा जा रहा हैं जिसके तहत हम अपनी तैयारी को कैसे करें इसके संबंध में कुछ सुझाव देंगे जिससे आप अपनी तैयारी बेहतर तरीके से कर सकें।

आईबीपीएस क्या होता है?

आई.बी.पी.एस अर्थात् बैंकिगं कार्मिक चयन संस्थान, इसका पूर्ण रुप हैं। ये एक बेहत लोकप्रिय बैंकिंग परीक्षा हैं जिसके लिए हर साल लाखों छात्र तैयारी करते हैं और इसमें अपना भविष्य बनाना चाहते हैं।

आईबीपीएस इसमें भाग लेने वाले अलग-अलग बैंको और संस्थाओं में रिक्त पदो जैसे – पी.ओ (PO)  क्लर्क (Clerk)  स्पेशलिस्ट और आर.आर.बी (RRB) के रिक्त पदो पर नियुक्ति के लिए आवेदन स्वीकारता हैं।

IBPS Ka Full Form in Hindi 

  • बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान

IBPS Full Form in English

  • IBPS (Institute of Banking Personnel Selection)

तीन चरणों में आयोजित करती हैं आईबीपीएस अपनी परीक्षा-

आई.बी.पी.एस तीन चरणों में अपनी परीक्षाओं को आयोजित करती हैं ताकि हर चरण पर उम्मीदवार की योग्यता को परखा जा सके और साथ ही हर चरण की पारदर्शीतो को भी तय किया जा सकें। तीनो चरण इस प्रकार हैं-

  1. प्रारंभिक चरण, जो कि, सबसे पहला चरण हैं
  2. मुख्य परीक्षा, जो कि, दूसरा चरण हैं
  3. साक्षात्कार, जो कि, उपर्युक्त दोनो चरणों में सफलता प्राप्त करने के बाद आयोजित की जाती हैं। साक्षात्कार के संबंध में एक जानकारी हम आपको देना चाहते हैं कि, आई.बी.पी.एस द्धारा आयोजित क्लर्क की परीक्षा में साक्षात्कार किया जाता हैं।

उपर्युक्त तीनो पर चरणो पर हर इच्छुक उम्मीदवार की योग्यता को परखा जाता हैं और साथ ही परीक्षा की पारदर्शीता को भी तय किया जाता हैं।

Read: यूपीएससी भर्ती 2020

IBPS रखती हैं अपनी परीक्षाओं में नकारात्मक अंकन पद्धति-

हम अपने मेहनती छात्रो को बताना चाहते हैं कि, आई.बी.पी.एस अपनी परीक्षाओं को उच्चकोटी का, सर्वश्रेष्ठ और पारदर्शी बनाने के लिए नकारात्मक अंकन पद्धति का प्रयोग करती हैं ताकि हर लिहाज से एक योग्य और सक्षम उम्मीदवार का चयन हो सकें।

आई.बी.पी.एस अपनी हर परीक्षा में गलत जबाव देने पर 0.25 अंको की कटौती करती हैं ताकि परीक्षा की कसौटी को बनाए रखा जा सकें।

आई.बी.पी.एस परीक्षा का ब्लू-प्रिंट और उसकी तैयारी के अहम् सूत्र-

हम अपने छात्रो को बताना चाहते हैं कि, वे किस तरह से आई.बी.पी.एस की तैयारी करके अपनी सफलता को सुनिश्चित कर सकते हैं और बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

आई.बी.पी.एस परीक्षा का ब्लू-प्रिंट-

सबसे पहले हम आपको बताते हैं कि, एक योग्य उम्मीदवार का चयन करने के लिए किन-किन विषयों को प्रमुखता दी जाती हैं, उसकी एक सूची इस प्रकार हैं-

  1. तर्कगणित अर्थात् रिजनिंग,
  2. अग्रेजी भाषा का ज्ञान,
  3. सामान्य ज्ञान,
  4. कम्प्यूटर का ज्ञान व
  5. मात्रात्मक योग्यता आदि

आईए जानते हैं कि, आप किस तरह से इन विषयों की बेहतर तरीके से कर सकत हैं तैयारी-

  1. तर्कगणित अर्थात् रिजनिंग को कैसे करें तैयार

तर्कगणित अर्थात् रिजनिंग की तैयारी के लिए आप अधिकांश तार्किक और मौखिक प्रश्नों जैसे कि संख्या की कड़ी बनाना, कोडिंग – डिकोडिंग व समझ तर्क आदि का अभ्यास कर सकते हैं क्योंकि रिजनिंग ऐसा विषय है जिसे हर परीक्षा में शामिल किया जाता हैं साथ ही ये बेहद सरल विषय भी हैं जिसमें आप अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं।

  1. अग्रेजी भाषा को कैसे तैयार करें

आप अपनी अग्रेजी भाषा को तैयार करने के लिए इसकी बुनियादी ज्ञान, शब्दावली और व्याकरण को कर सकते हैं तैयार ताकि आपके बेसिक्स क्लियर रहें। इसमें आप अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं और अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं। इसमें आपसे खाली स्थान भरना, वाक्यांश, मुहावरे,प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष काल, वाक्यों को सुव्यवस्थित करना और शब्द प्रतिस्थापन से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

  1. सामान्य ज्ञान को इस तरह से कर सकते हैं तैयार

सामान्य ज्ञान के तहत आपकी दैनिक घटनाओं और गतिविधियों के बारे में आपकी जागरुकता की जांच की जाती हैं जैसे कि, व्यापार, कृषि, वित्त, भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था, संचार, खेल औऱ समाज से जुड़े विषय जो  कि, दैनिक विषय कहे जाते हैं शामिल किया जाता हैं। इसकी तैयारी के लिए आप अपने पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी रखिए, समाचार पत्र और पत्रिकायें पढिएं इससे आप इस विषय में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं।

Read: UP Lekhpal Bharti 2020

  1. कैसे करें अपने कम्प्यूटर के विषय को मजबूत

आप कम्प्यूटर में कितना बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं इसकी जांच के लिए कम्प्यूटर से संबंधित कुछ विषयों से शामिल किया जाता हैं जैसे कि बेसिक्स, ओपरेटिंग सिस्टम कार्य, इंटरनेट का बुनियादी ज्ञान, एम.एस वर्ड और एक्सल, पावरप्वाइंट और शार्टकर्ट आदि।

इन्हें तैयार करने के लिए आप कम्प्यूटर से संबंधित कुछ सरल पुस्तको का चुनाव कर सकते हैं वही इसकी कोचिंग भी ले सकते हैं। ये बेहद रोचक विषय हैं जिसमें आप अधिकतम अंक प्राप्त कर सकते हैं।

  1. इस तरह से तैयार कर सकते हैं अपनी मात्रात्मक योग्यता को

इसमें आपकी मात्रात्मक योग्यता का परीक्षण किया जाता हैं जिसके तहत डाटा इंटरप्रिटेशन, संख्या श्रेणी, अनुपात और प्रतिशत-औसत जैसे विषयों को शामिल किया जाता हैं।

इसकी तैयारी के लिए आप इस विषय की प्रश्न बैंक से लगातार अभ्यास कर सकते हैं और इसमें बेहतर अंक हासिल कर सकते हैं ये सरल हैं पर कठिन विषयो की श्रेणी में आता हैं।

हमने आई.बी.पी.एस परीक्षा के ब्लू-प्रिंट को तो देख लिया आईए अब देखते हैं इसकी तैयारी के लिए अहम् सूत्र।

आई.बी.पी.एस परीक्षा की तैयारी के लिए अहम् सूत्र-

आई.बी.पी.एस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए इसकी तैयारी से संबंधित कुछ अहम् सूत्र इस प्रकार हैं-

  • दैनिक लक्ष्य तय करके करे तैयारी,
  • परीक्षा से संबंधित अपनी जानकारी में सदैव कुछ नया जोडते रहे अर्थात् खुद को अपडेट रखें,
  • अलग-अलग विषयो को समय-सारिणी के अनुसार तैयार करें,
  • समय प्रबंधन का पूरा ध्यान रखें,
  • लगातार अभ्यास करें इसके लिए आप मोक टेस्ट और प्रेक्टिस टेस्ट की मदद ले सकते हैं,
  • अपनी दैनिक जीवन को ज्यादा भारी ना बनायें,
  • संतुलित भोजन का सेवन करें,
  • मनोरंजन को भी अपनी तैयारी का हिस्सा बनाए,
  • पूरी नींद सोए,
  • अपनो के साथ समय बिताए,
  • सप्ताह में एक दिन अपनी तैयारी को विराम दे और कुछ नया करें या वो करें जिसे करके आपको अच्छा लगें आदि।

उपर्युक्त बिंदुओ की सहायता से आप अपनी तैयारी को संतुलित और सार्थक कर सकते हैं जिससे आप सरलता से इस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते हैं और अपने भविष्य को उज्जवल बना सकते हैं।

Read: [रजिस्ट्रेशन] UP Rojgar Mela 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *